बिटकॉइन क्रिप्टोकरेंसी: कैसे एक वर्चुअल सिक्का लोगों को बना रहा अमीर, जानिए सबकुछ

बिटकॉइन क्रिप्टोकरेंसी का क्रेज दुनियाभर में तेजी से बढ़ रहा है, और बिटकॉइन में निवेश करने वाले अमीर लोग इस Online Currency के जरिए अपनी पूंजी को तेजी से बढ़ाना चाहते हैं, जिसके कारण इसके दाम भी नई ऊंचाइयां छू रहे हैं|

बता दें, कि दुनियाभर में इस करंसी में लोग पैसा लगा रहे हैं| लेकिन,  भारत सरकार के मुताबिक, उसके पास वर्चुअल करंसी का कोई डेटा नहीं है, इसलिए इसकी ट्रेडिंग में जोखिम हो सकता है|

बिटकॉइन की शुरुआत 2009 में सतोशी नाकामोतो (Satoshi Nakamoto) नाम के शख्स ने की थी, जब दुनिया में आर्थिक संकट आ चुका था। लेकिन, 2015 के बाद इसमें बड़ी तेजी देखने को मिली और यह दुनिया की नजरों में आ गई|

हाल ही के कुछ वर्षों में कई देशों में इस वर्चुअल करंसी में ट्रेडिंग (Virtual Currency trading) को लीगल माना गया|

Bitcoin कैसे खरीदे?

Bitcoin  को आप क्रिप्टो एक्सचेंज से या सीधे किसी व्यक्ति से ऑनलाइन (पियर-टू-पियर) खरीद सकते हैं, लेकिन यह वाला माध्यम खासा जोखिम भरा है|

ध्यान देने वाली बात यह है, कि इनमें निवेश करने से पहले ज़रूर जांच लें, कि एक्सचेंज का पंजीकृत पता कहां है और वह भारतीय कानून के अधीन निगमित है या नहीं। यहाँ तक की कुछ एक्सचेंज केवाईसी और एंटी मनीलॉड्रिंग प्रक्रियाओं का भी पालन करवाते हैं।

बिटकॉइन ट्रेडिंग क्या है? 

आपको बता दें, कि बिटकॉइन ट्रेडिंग डिजिटल वॉलेट के जरिए होती है| दुनियाभर में बिटकॉइन की कीमत एक समय पर समान रहती है, जिस वजह से इसकी ट्रेडिंग मशहूर हो गई|

इसे कोई देश निर्धारित नहीं करता, इसके अलावा बिटकॉइन ट्रेडिंग का कोई निर्धारित समय नहीं होता है|

वैसे तो भारत में भी गुपचुप तरीके से ट्रेडिंग की जा रही है, हालांकि, सरकार ने अब तक इसे लेकर नीतियां नहीं बनाई हैं| लेकिन, सुप्रीम कोर्ट से फिलहाल इसकी मंजूरी मिल चुकी है|

बिटकॉइन का जोखिम  (Disadvantage of Bitcoin)

बिटकॉइन क्रिप्टोकरेंसी से सबसे बड़ा नुकसान यह है, कि अगर आपका कंप्यूटर या वॉलेट हैक हो गया, तो फिर यह रिकवर नहीं होगी, और यहाँ तक की आप इसकी चोरी होने की पुलिस में या कहीं भी शिकायत दर्ज नहीं करा सकते हैं| इसके साथ ही शेयर बाजार में तो किसी शेयर के दाम उस कंपनी की लाभ की स्थिति को देखकर तय होते हैं, लेकिन बिटक्वाइन में ऐसा कतई नहीं है। इसकी कीमत तय करने का कोई आधार ही नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *