वेलेंटाइन डे की कहानी: इसलिए 14 फरवरी को ही मनाया जाता है Valentine day

वेलेंटाइन डे की कहानी: क्या आप जानते हैं, कि वैलेंटाइंस डे आखिर क्यों मनाया जाता है? आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं|

प्यार करने वालों के लिए फरवरी महीना प्यार का महीना होता है, और हर साल 7 फरवरी से 14 फरवरी तक वैलेंटाइन डे वीक के रूप में मनाया जा जाता है|

क्या है Valentine Day?

270 ईसवी में रोमन साम्राज्य में एक क्लाउडियस गोथिकस द्वितीय नाम का राजा था। कहा जाता है, कि वो प्रेम प्रसंग और शादी के सख्त खिलाफ था।

उस राजा का मानना था, कि प्रेम या शादी से सैनिक अपना ध्यान भटक जाते हैं, इसलिए उसने राज्य के सैनिकों के प्रेम करने और विवाह पर रोक लगा दी।

उसी राज्य में वेलेंटाइन नाम के संत भी थे, और उन्होंने इस आदेश का विरोध किया तो क्लाउडियस ने उन्हें मौत के घाट उतरवा दिया।

माना जाता है, कि संत वेलेंटाइन ने जिस दिन बलिदान दिया उस दिन 14 फरवरी तारीख थी।

इसके बाद से हर साल इसी दिन को ‘प्यार के दिन’ यानी वेलेंटाइन डे के तौर पर मनाया जाने लगा।

फ्रॉम योर वेलेंटाइन

कुछ इतिहासकार मानते हैं, कि वेलेंटाइन को जेल में बंद कर दिया गया था और उन्होंने वहां से जेलर की बेटी को एक खत लिखा। अपने पत्र के आखिर में उन्होंने लिखा था “तुम्हारा वैलेंटाइन.” दरअसल,वो लड़की संत valentine को बहुत मानती थी।

हर साल पूरी दुनिया में यह पर्व मनाया जाता है, और इसे अलग अलग तरीकों से मनाया जाता है|

हालांकि, अभी भी कई देशों में इसे संस्कृति के खिलाफ मानकर इसके सेलिब्रेशन पर रोक लगा दी जाती है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *