सोनागाछी: भारत में एक ऐसी जगह जहां पैदा होते ही वेश्या बन जाती है लड़की

सोनागाछी: आज के समय में वैसे तो देह व्यापार नियम और कानून के साथ होता है लेकिन, लेकिन आज भी देश के कई हिस्सों में ये लाखों लड़कियों का भाग्य बन चुका है, और जिसकी वजह से कई हिस्सों में आज भी कई लड़कियां इस अभिशाप को भुगतने के लिए मजबूर हैं।

एशिया का सबसे बड़ा रेड-लाइट एरिया

यहाँ कई तरह के गैंग सक्रिय हैं, जो इस देह-व्यापार के धंधे को संचालित करते हैं, और यह केवल भारत ही नहीं, एशिया का सबसे बड़ा रेड-लाइट एरिया है।  

जानकारी के मुताबिक, इस स्लम में 18 साल से कम उम्र की तकरीबन 12 हजार लड़कियां व्यापार में शामिल हैं।

आपको ये जानकर आश्चर्य होगा, कि कोलकाता के इस रेडलाइट एरिया पर बनी Born Into Brothels  नाम की फिल्म को ऑस्कर भी मिल चुका है।

अब इसे बदनसीबी ही कह सकते हैं, क्योंकि  जिस उम्र में बच्चियां दुनिया की रीति-रिवाज, लाज-शरम सिखाती हैं, यहां इसके विपरीत यह सब खुद को बेचना सीखती हैं।

महज 12 से 17 साल की उम्र में ये लड़कियां मर्दों को खुश करना सीख जाती हैं, और जिसके बदले उन्हें दो डॉलर मिलते हैं।

बाहरी  का प्रवेश वर्जित

इस स्लम में कोई भी बाहरी व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सकता, मतलब बाहरी व्यक्ति का आना मना है। यहां तक की पत्रकारों और फोटोग्राफरों को भी भीतर नहीं जाने दिया जाता|

कई बुद्धिजीवी इसे गरीबी, भ्रष्टाचार और अनैतिकता का परिणाम मानते हैं, क्योंकि, यहां की ज्यादातर बच्चियां स्कूल जाकर पाठ पढ़ने की बजाय  देह बेचने का पाठ पढ़ रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *