यौन इच्छाशक्ति: अपनी सेक्स पावर बढ़ाने के लिए यंहा के लोग खा रहे हैं गधे का मांस!

देश में वैसे तो गधों को विलुप्त होने वाले जानवरों की लिस्ट में रखा गया है, लेकिन  आंध्र प्रदेश के लोग मानते हैं, कि गधे का मांस खाने से यौन इच्छाशक्ति  की समस्या दूर हो सकती है|

भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण के मुताबिक, गधे ‘फूड एनीमल’ के तौर पर रजिस्टर्ड नहीं हैं| इसलिए इन्हें मारना अवैध है|

एक ताज़ा रिपोर्ट के मुताबिक, आंध्र प्रदेश में गधे विलुप्त होने की कगार पर पहुंच गए हैं, और इन्हे मारकर उनके अवशेषों को नहरों में फेंका जा रहा है|

गधे का मांस  करीब 600 रुपये किलो

आंध्र प्रदेश के बाजारों में गधों का मांस करीब 600 रुपये किलो बिक रहा है| ऐसे में मांस के लिए गधों को अंधाधुंध काटा जा रहा है|

बता दें, कि आंध्र प्रदेश में गधों के मांस को लेकर कई धारणाएं हैं, और यहां के लोगों को लगता है, कि गधे का मांस कई समस्याओं को दूर कर सकता है|

लोगों के मुताबिक, गधे का मांस खाने से सांस की समस्या दूर हो सकती है, और इसके अलावा गधे का मांस खाने से यौन क्षमता भी बढ़ती है|

लोग इन धारणाओं की वजह से गधे के मांस का इस्तेमाल भोजन के तौर पर कर रहे हैं, जिससे यहां उनके मांस की खपत बहुत तेजी से बढ़ी है|

वहीं एनिमल रेस्क्यू आर्गेनाइजेशन का मानना है, राज्य से गधे करीब-करीब गायब हो गए हैं, और उन्हें पशु क्रूरता निवारण एक्ट 1960 के नियमों के तहत अवैध तरीके से मारा जा रहा है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *