सचिन तेंदुलकर से नाराज़ कैट, चीनी निवेशक कंपनी का ब्रांड एंबेसडर बनने का मामला

सचिन तेंदुलकर से कन्फ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) मतलब नाराज़ चल रही है. कैट का साफ कहना है कि सचिन का किसी भी बड़े चीनी निवेश वाली कंपनी का ब्रांड एंबेसडर बनना साफ तौर पर उनकी ज्यादा से ज्यादा धन कमाने की इच्छा को दर्शाता है.

बता दें कि, पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के खिलाफ कन्फ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने मोर्चा खोल दिया है. कैट ने कहा कि जब चीन-भारत के बीच युद्ध का माहौल बना हुआ है और हम चीनी सामान के वहिष्कार की बात कर रहे हैं उस समय, ऐसे में सचिन का चीनी निवेश वाली कंपनी का ब्रांड एंबेसडर बनना साफ तौर पर उनकी ज्यादा धन कमाने की लालची प्रवृति को दर्शाता है.

कैट ने आगे सचिन तेंदुलकर की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि उनको देश को यह जवाब देना चाहिए. कि किस मजबूरी के चलते उन्हें यह कदम उठाना पड़ रहा है कैट ने कहा कि सचिन के इस फैसले से न केवल देश के व्यापारी, बल्कि प्रशंसक भी बेहद नाराज हैं. कैट ने कहा की हमने इस संदर्भ में सचिन तेंदुलकर को पत्र भेजकर उन्हें अपना फैसला बदलने का आग्रह किया है. 

Paytm First Games

कन्फ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया ने कहा कि एक तरफ देश में एक बड़ी चीनी कंपनी भारत में जासूसी करती हुई पकड़ी जा रही है, वहीं दूसरी ओर सचिन तेंदुलकर जो अपने आपको भारत का वीर सपूत कहते हैं, उन्हें चीन से प्राप्त निवेश वाली कंपनी का ब्रांड एंबेसडर बनने में कोई बड़ी बात नजर नहीं आ रही है.

कैट ने कहा कि यह सीधे तौर पर हमारी वीर सेना का भी बहुत बड़ा अपमान है, जो विपरीत परिस्थितियों में चीन के साथ लगी सीमाओं पर तैनात रह कर देश की सुरक्षा में लगे हैं. इससे यह साफ जाहिर होता है कि सचिन अपने देश और सेना में नहीं, बल्कि वर्तमान में दुश्मन देश के पैसे से चल रही एक कंपनी के ब्रांड एंबेसडर बन कर करोड़ों रुपए कमाने में ज़्यादा रुचि रखते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *