रयुगयोंग: दुनिया का सबसे वीरान होटल जिसमें आज तक नहीं ठहरा कोई इंसान

जिस तरह उत्तर कोरिया अपने अजीबोगरीब कानूनों और परमाणु हथियारों के परीक्षण की वजह से पूरी दुनिया में मशहूर है। लेकिन, ठीक इसके विपरीत वह एक पिरामिड जैसे आकार और नुकीले सिरे वाले रयुगयोंग होटल की वजह से भी जाना जाता है|

उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयोंग में 330 मीटर ऊंचे इस होटल में कुल 105 कमरे हैं, लेकिन आज तक कोई भी व्यक्ति यहां ठहरा नहीं है। जिसके कारण वीरान से दिखने वाले इस होटल को ‘शापित होटल’ के नाम से जाना जाता है।

होटल गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल

इस होटल को वैसे तो दुनिया के सबसे ऊंचे होटल के रूप में बनाया जा रहा था, लेकिन अब इसकी एक अलग ही पहचान बन गई है।

इस होटल को अब दुनिया ‘धरती की सबसे ऊंची वीरान इमारत’ के तौर पर जानती है, और इसी खासियत की वजह से इसका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है।

बता दें कि साल 1987 में इस होटल का निर्माण कार्य शुरू हुआ था, लेकिन, कभी इसे बनाने के तरीके के साथ दिक्कत हुई| इसके बाद आखिरकार साल 1992 में इस होटल के निर्माण कार्य को रोकना पड़ा।

इसके बाद उत्तर कोरिया के प्रशासन ने साल 2012 में ये ऐलान किया था, कि होटल का काम 2012 तक पूरा हो जाएगा, लेकिन यह भी नहीं हो सका|

इसके बाद भी साल दर साल कई उम्मीदें लगाई गईं, कि होटल इस साल शुरू होगा, उस साल शुरू होगा, लेकिन वास्तव में आज तक यह होटल सुचारू रूप से खुल नहीं पाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *