जिरकॉन मिसाइल: रूस ने दुनिया की इस सबसे घातक मिसाइल का किया टेस्ट

रूस ने हाल ही में धरती की सबसे तेज उड़ने वाली जिरकॉन मिसाइल का सफल परीक्षण सफेद सागर में मौजूद अपने नॉर्दन फ्लीट एडमिरल गोर्श्कोव फ्रिगेट से किया|

इस मिसाइल ने 450 किलोमटीर दूर मौजूद अपने निशाने पर सटीक धावा बोला, मिसाइल का टारगेट बैरेंट्स सागर में लगाया गया था| 

इस समय रूस अपने अत्याधुनिक हथियारों का परीक्षण कर रहा है, जिसमे उसका एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम भी शामिल हैं|

बता दें, यह मिसाइल (Zircon Missile) ध्वनि की गति से आठ गुना ज्यादा रफ्तार से हमला करती है मतलब, यह एक बार चल पड़ी तो ये अपने टारगेट को ध्वस्त करके ही रुकेगी| भारत की ब्रह्मोस-2के मिसाइल इसी मिसाइल की तर्ज पर बनाई जा रही है|

जिरकॉन मिसाइल मैक-8 की गति से उड़ती है, यानी 2.74 किलोमीटर प्रति सेकेंड की गति से दुश्मन की ओर बढ़ती है| इस मिसाइल को अगर रूस की राजधानी मॉस्को से छोड़ा जाए, तो यह एक घंटे बाद लॉस एजिंल्स में जाकर हमला कर देगी|

बता दें, कि इस मिसाइल परीक्षण से एक दो दिन पहले ही रूस ने अमेरिका को अपनी हद में रहने की चेतावनी दी थी|

जिरकॉन मिसाइल को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की पसंद का हथियार बताया जाता है| बैरेंट्स सागर में अपने टारगेट तक इस मिसाइल को पहुंचने में मात्र 4 मिनट लगे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *