लाल किले पर ‘केसरिया झंडा’ लहराने वाले को ढाई करोड़ रुपए देने जा रहा है ये संगठन

लाल किले पर 26 जनवरी के दिन ‘केसरी झंडा’ लहराने वाले को 3.5 लाख डॉलर यानी तकरीबन ढाई करोड़ रुपए देने की घोषणा इस संगठन द्वारा की गई है| 

अमेरिका से संचालित सिख फॉर जस्टिस (SFJ) संगठन भारत में बैन है, और इस पर किसान आंदोलन की पैरवी करने को लेकर पहले भी सवाल उठते रहे हैं|

सिख फॉर जस्टिस चीफ गुरपतवंद सिंह पन्नू ने इनाम की घोषणा एक वीडियो जारी करते हुए कहा-

जब 8 जनवरी को दिल्ली पुलिस ने सिख फॉर जस्टिस और मेरे खिलाफ UAPA (The Unlawful Activities Prevention Act) के तहत केस दर्ज किया था, उसी समय SFJ ने इंडिया गेट पर केसरी झंडा लहराने वाले को 2.5 लाख डॉलर दिए जाने की बात कही थी|

गौरतलब है, कि NIA ने जनवरी की शुरुआत में ही सिख फॉर जस्टिस से जुड़े मामले में किसान नेता बलदेव सिंह सिरसा और एक्टर दीप सिद्धू के अलावा 27 अन्य लोगों को समन भेजे थे|

क्या है सिख फॉर जस्टिस?

सिख फॉर जस्टिस संगठन की शुरुआत साल 2007 में अमेरिका में हुई थी, और इसका एजेंडा मुख्य रूप से पंजाब में अलग से खालिस्तान बनाने का है|

अमेरिका में रह रहा वकील गुरपतवंत सिंह पन्नू SFJ का चेहरा है, जो अपने बयानों को लेकर लगातार सुर्खियों में बना रहता है|

पिछले साल इसी संगठन ने ही रेफरेंडम 2020 का आयोजन करके दुनियाभर में सिखों से शामिल होने को कहा था, जिसका मकसद खालिस्तान बनाने के कैंपेन को और बढ़ावा देना था|

बता दें, कि हाल में गणतंत्र दिवस से पहले हिंसा को लेकर भी गुरपतवंत सिंह ने धमकी दी थी|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *