राहुल ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को याद कर कही ये बड़ी बात

राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, एक कार्यकुशल प्रधानमंत्री और शक्ति स्वरूप पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जी की जयंती पर श्रद्धांजलि. पूरा देश उनके प्रभावशाली नेतृत्व की आज भी मिसाल देता है

लेकिन मैं उन्हें हमेशा अपनी प्यारी दादी के रूप में याद करता हूं, उनकी बताई हुई बातें मुझे निरंतर प्रेरित करती हैं| 

19 नवंबर, 1917 को जवाहरलाल नेहरू और कमला नेहरू के यहां जन्मी कन्या को उसके दादा मोतीलाल नेहरू ने इंदिरा नाम दिया|

भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री

इंदिरा गांधी ने भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री के तौर पर 1966 से 1977 के बीच लगातार तीन बार देश की बागडोर संभाली|

1980 में दोबारा प्रधानमंत्री बनी और 31 अक्टूबर 1984 को पद पर रहते हुए उनकी हत्या कर दी गई थी|

1984 में उन्होंने अमृतसर में सिखों के पवित्र स्थल स्वर्ण मंदिर से आतंकवादियों को बाहर निकालने के लिए सैन्य कार्रवाई का आदेश दिया था|

इस सैन्य कार्रवाई की कीमत उन्हें अपने सिख अंगरक्षकों के हाथों जान गंवाकर चुकानी पड़ी थी|

स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे विवादस्पद 1975 में आपातकाल की घोषणा को भी उनके एक कठोर फैसले के तौर पर देखा जाता है|

पारिवारिक जीवन

1942 में इंदिरा गांधी और फिरोज गांधी का विवाह हुआ था| दोनों एक दूसरे को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के दौरान से ही जानते थे|

भारत रत्न से किया गया सम्मानित

पिता जवाहरलाल नेहरू के निधन के बाद इंदिरा सक्रिय तौर पर राजनीति में उतरीं आईं| प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के कार्यकाल में पहली बार उन्हें सूचना और प्रसारण मंत्री का पद मिला| 

शास्त्री जी के निधन के बाद  उन्हें देश की तीसरी प्रधानमंत्री के रूप में चुना गया| गौरतलब, है कि इंदिरा गांधी को वर्ष 1971 में भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था| 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *