दुनिया का रहस्यमयी मंदिर जिसे माना जाता है नरक का द्वार, जो गया वापिस नहीं आया

नरक का दरवाजा कहा जाने वाला ऐसा एक दुनिया का रहस्यमयी मंदिर तुर्की में स्थित है|  कहा तो यहां तक जाता है, कि इस मंदिर के पास जाने वाला कभी वापस नहीं लौटता|

बता दें,  दक्षिणी तुर्की के हीरापोलिस शहर में एक बेहद प्राचीन मंदिर है, और इसी  मंदिर को नरक का दरवाजा माना जाता है, क्योंकि पिछले कई वर्षों से यहां लगातार रहस्यमयी  तरीके से लोगों की मौत हो रही है|

पशु-पक्षी भी होते हैं मौत के शिकार

सबसे हैरान करने वाली बात यह है, कि इंसान ही नहीं बल्कि, इस मंदिर के संपर्क में आने वाले पशु-पक्षी भी मौत के गाल में समा जाते हैं| 

वहां के लोकल निवासियों के अनुसार, ऐसा माना जाता है, कि  यूनानी देवता की जहरीली सांसों की वजह से उनकी मौत हो रही है|

यही कारण है, कि लोग इस मंदिर को नरक का दरवाजा कहने लगे हैं, यहां तक कि रोमन काल में भी मंदिर के आसपास जाने वाले लोगों का सिर कलम कर दिया जाता था, उस समय भी लोग मौत के डर की वजह से ही यहां जाने से घबराते थे|

वैज्ञानिकों का मौत की गुत्थी सुलझाने का दावा

खोजकर्ताओं के अनुसार, यहां होने वाली घटनाओं का मुख्य कारण मंदिर के नीचे से लगातार रिसकर बाहर निकल रही कार्बन डाई ऑक्साइड गैस है|

वैज्ञानिकों का कहना है, कि ऐसा भी संभव हो सकता है, कि इस मंदिर की गुफा ऐसी जगह पर हो, जहां पृथ्वी की परत के नीचे से जहरीली गैसें निकल रही हों. जिसकी वजह से यहां जाने वाले लोग मृत्यु के गाल में समा जाते हैं|

खोज के दौरान पता चला, कि दुनिया का रहस्यमयी मंदिर जहां पर स्थित है उसके नीचे बनी गुफा में कार्बन डाई ऑक्साइड 91 प्रतिशत तक मौजूद है| 

उनके अनुसार, वहां से निकल रही भाप की वजह से ही वहां आने वाले कीड़े-मकोड़े और पशु-पक्षी मारे जाते हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *