मेल इनफर्टिलिटी: गोद में लैपटॉप रखकर काम करने से पड़ता है रिप्रोडक्टlविटी पर बुरा असर

मेल इनफर्टिलिटी: कोरोनावायरस के चलते घर से काम करने का रिवाज चलन में आ गया है, और अब लोग घंटों अपने लैपटॉप से चिपके हुए नजर आ रहे हैं।

लेकिन, क्या आप जानते हैं, लैपटॉप का लगातार इस्तेमाल आपकी रिप्रोडक्‍टिव हेल्‍थ पर काफी बुरा असर ड़ाल सकता है?

हेल्थ विशेषज्ञों के मुताबिक, व्यक्ति को लैपटॉप से ज्‍यादा नुकसान उससे जुड़े वाईफाई से हो रहा है, और लैपटॉप को गोद में रखकर काम करने से पुरूषों के रिप्रोडक्‍टिव ऑर्गन इफैक्‍ट होते हैं, जिसका सीधा असर उनके स्‍पर्म काउंट पर पड़ता है। 

पुरूषों को ज्यादा नुकसान

विशेषज्ञों का कहना है, कि लैपटॉप की हीट मह‍िलाओं की तुलना में पुरूषों को अधिक नुकसान पहुंचा सकती है, क्योंकि महिलाओं के शरीर में यूटरस शरीर के भीतर होता है, जबकि पुरूषों में टेस्‍ट‍िकल शरीर के बाहर होते हैं।

जिसका सीधा मतलब है, कि हीट रेड‍एशन उनके ज्‍यादा करीब रहती है, और  ज्‍यादा तापमान की वजह से स्‍पर्म क्‍वॉलिटी और मेल इनफर्टिलिटी की वजह बन सकती है|

डॉक्टरों के अनुसार, सभी इंटरनेट उपकरण रेडियोफ्र‍ीक्‍वेंसी का इस्‍तेमाल करते हैं, जो मानव शरीर को बीमार कर सकता है।

हॉर्डड्राइव से लो फ्र‍ीक्‍वेंसी रेडिएशन की वजह से व्यक्ति को नींद न आना, स‍र में तेज दर्द जैसे लक्षण देखने को मिल सकते हैं। 

इस तरह करें लैपटॉप का इस्‍तेमाल


1-लैपटॉप को गोद में रखकर काम की जगह आप उसे टेबल पर रखकर इस्‍तेमाल करें। 
 
2-लैपटॉप पर काम करते समय शील्‍ड का इस्‍तेमाल करें। इससे रेडिएशन से काफी हद तक बचाव होता है।

3-लैपटॉप पर काम करते समय बहुत ज्‍यादा झुककर काम करने से बचें, इससे आपकी स्‍पाइन बोन में परेशानी हो सकती है।

4-लैपटॉप पर काम करते समय उससे एक उचित दूरी बनाकर ही काम करें। हो सके तो, टेबल पर रखकर ही काम करें। 

5-लैपटॉप के साइड से ज्‍यादा हीट या हीट सिंक फैन की बहुत तेज आवाज आ रही हो, तो उसका इस्‍तेमाल बंद कर दें। 

6-लैपटॉप पर काम करते समय थोड़े-थोड़े अंतराल के बीच में अपनी पोजीशन बदलते रहें, क्योंकि, ऐसा करने से आपके शरीर के किसी भी  एक अंग पर ज्‍यादा असर नहीं पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *