एकतरफा प्यार में पागल आशिक ने लगवाए पोस्टर, ट्रेन में मिली थी एक लड़की

कोलकाता के एकतरफा प्यार में पागल आशिक युवक को लोकल ट्रेन में एक लड़की मिली थी, और जिससे युवक को एकतरफा प्यार हो गया था|

ट्रेन में उस लड़की से तो युवक अपने प्यार का इजहार नहीं कर पाया, लेकिन सफर खत्म होने के बाद युवक उस लड़की को देखने के लिए बेचैन हो उठा|

अब आलम यह था, कि ना तो वह उस लड़की को जानता था, और ना ही उसका पता|

शहरभर में लगा दिए 4000 पोस्टर

उस लड़की तक अपनी बात पहुंचाने के लिए उस युवक ने गली, मोहल्ले, सड़कों पर हर जगह पोस्टर लगा दिए थे|

पश्चिम बंगाल के बेहला में रहने वाले विश्वजीत पोद्दार राज्य पर्यावरण विभाग में नौकरी करते हैं|

दरअसल, यह घटना दो साल पुरानी है, जब वे एक लोकल ट्रेन से वह कहीं जा रहे थे, और इस दौरान उन्हें ट्रेन में एक लड़की को देखते ही उन्हें प्यार हो गया था| 

लड़की का वह नाम-पता कुछ नहीं जानते थे, जिसके लिए उन्होंने लड़की को ढूंढने के लिए 4000 पोस्टर शहरभर में  लगा दिए थे|

प्यार में पागल कहने लगे  थे लोग 

विश्वजीत के मुताबिक,  इस घटना के बाद से लोग उन्हें एकतरफा प्यार में पागल आशिक कहने लगे थे| हालांकि, अपने दिमाग से उस लड़की को वह निकाल नहीं पा रहे थे| 

इस घटना के बारे में विश्वजीत ने बताया, कि  तारापीठ से कोन्ननगर जाने के लिए वह ट्रेन में बैठे और ट्रेन छूटने से ठीक पहले वह लड़की अपने माता-पिता के साथ उनके सामने वाली सीट पर बैठ गई थी|

उस दौरान मां-पिता के साथ होने की वजह से वह उसे किसी परेशानी में नहीं डालना चाहते थे|

विश्वजीत के अनुसार,  वह बैठी तो अपने मां-बाप के साथ थी, लेकिन मेरे हिसाब से वह भी बात करना चाहती थी, जो मां-पिता साथ में होने के कारण वह बात नहीं कर पाई थी| 

विश्वजीत ने इसके लिए यूट्वयूब पर 6 मिनट 23 सेकंड की छोटी सी फिल्म भी अपलोड की थी जिसका टाइटल रखा है, कोन्ननगर कोने यानी कोन्नगर की दुल्हन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *