हिन्दू ही नहीं यहाँ मुस्लिम भी करते हैं शिवलिंग की पूजा, वजह जानकर हो जायेंगे हैरान

भगवान शिव के बारे में यह बात प्रचलित है, कि ये जल्दी खुश होकर भक्तों की सारी मनोकामनाएं पूरी करते है। आमतौर पर हिन्दुओं में शिवलिंग की पूजा की जाती है, लेकिन  उत्तर प्रदेश के गोरखपुर गोरखपुर से 25 किमी दूर एक गांव सरया  तिवारी में भगवान भोलेनाथ का एक अद्भुत शिवलिंग है|

आपको बता दें, कि हिंदुओं के साथ यह शिवलिंग मुस्लिमों के लिए भी उतना ही पूज्‍यनीय है, क्योंकि इस शिवलिंग पर एक कलमा खुदा हुआ है।

उर्दू में इस पर ‘लाइलाहाइल्लललाह मोहम्मदमदुर्र् रसूलुल्लाह’ लिखा हुआ है और अब इस शिवलिंग की महत्ता इतनी बढ़ चुकी है कि हर साल सावन के महीने में यहां पर हजारों भक्‍तों द्वारा पूजा अर्चना किया जाता है।

साम्प्रदायिक सौहार्द की मिसाल

आज के समय में यह मंदिर साम्प्रदायिक सौहार्द का एक मिसाल बन गया है क्योंकि हिन्दुओं के साथ-साथ रमजान के महीने में मुस्लिम भी यहाँ पर आकर अपने अल्लाह की इबादत करते है।

वहीं स्थानीय लोगों का मानना है, कि इतना विशाल स्वयंभू शिवलिंग पूरे भारत में सिर्फ यहीं पर है। जो भी भक्त शिव के इस दरबार में आकर श्रद्धा से कामना करता है, भोले बाबा उसकी हर मनोकामना पूरी करते हैं| 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *