हितेश भाई खोना नाम का यह युवक करोड़ों रुपये की नौकरी छोड़कर अब बनेगा संत

हितेश भाई खोना जोकि अहमदाबाद के रहने वाले हैं, उन्होंने दुबई में करोड़ों रुपये की नौकरी छोड़कर अब संत बनने का फैसला किया है|

लोग आमतौर पर विदेशों में लाखों-करोड़ों रुपये वाली नौकरी का सपना देखते हैं, लेकिन गुजरात के इस नौजवान ने सब कुछ त्याग कर वैराग्य का रास्ता अपनाने का फैसला कर लिया है.

जैन संत बनने जा रहे हैं हितेश

हितेश नौकरी छोड़कर अब जैन संत बनने की तैयारियों में जुटे हुए हैं, और 14 जनवरी को दीक्षा लेने के बाद वो साधना पर निकल जाएंगे|

परम्परा के अनुसार, हितेश के माता-पिता चंपाबेन और भागचंद इसी दिन अपने बेटे को जैन संत आदर्श महाराज को सौंप देंगे|

हितेश के मुताबिक, जब वो 12वीं कक्षा में थे, तब वो एक बार आचार्य नवरत्न सागर से मिले थे, और फिर वहां से उन्हें जैन ग्रंथों के अध्ययन की प्रेरणा और जिसके बाद वैराग्य जीवन की तरफ उनका आकर्षण बढ़ने लगा|

दुबई में टैक्स कंसल्टेंट हितेश ने बताया, कि वो बहुत पहले ही वैराग्य जीवन को अपना लेना चाहते थे, लेकिन, बड़े भाई की शादी और माता-पिता के लिए मकान बनवाने में समय लगने की वजह से उन्हें इस फैसले को लेने में देरी हो गई|

जानकारी के मुताबिक, हितेश अपने गुरू से 14 जनवरी को दीक्षा लेंगे जिसके कुछ समय बाद एक भव्य समारोह में उन्हें संत के रूप में अलंकृत किया जाएगा|

हितेश ने बीकॉम करने के बाद मुंबई में कुछ समय तक टैक्स सलाहकार का काम किया था, जिसके बाद वो दुबई चले गए थे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *