पूर्व भारतीय ओपनर गौतम गंभीर ने टीम इंडिया के सेलेक्शन पर उठाए सवाल

पूर्व भारतीय ओपनर गौतम गंभीर के मुताबिक, टीम मैनेजमेंट ने टीम इंडिया के खिलाड़ियों में ‘असुरक्षा’ की भावना पैदा कर दी है|

ऋद्धिमान साहा को एडिलेड में पहले टेस्ट में खराब फॉर्म के बाद मेलबर्न में दूसरे टेस्ट से बाहर कर दिया गया है|

गंभीर ने पूछा कि, कि अगर ऋषभ पंत अगले दो मैचों में नाकाम रहते हैं, तो क्या यही सलूक उनके साथ भी किया जाएगा| 

गंभीर ने कहा,‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सीरीज में साहा ने बस एक टेस्ट खेला और उसे बाहर कर दिया गया.’

मौजूदा टीम मैनेजमेंट नहीं कर पा रही

गंभीर के अनुसार, खिलाड़ी सॉलिड निर्णयों से सुरक्षित महसूस करते हैं, जो मौजूदा टीम मैनेजमेंट फिलहाल नहीं करा सकी है|  

गंभीर ने कहा,‘ और यही वजह है, कि टीम अस्थिर लग रही है, क्योंकि किसी में भी सुरक्षा की भावना नहीं है|

पूर्व भारतीय ओपनर गौतम गंभीर ने कहा,‘ किसी भी खिलाड़ी में सुरक्षा और आश्वासन की जरूरत होती है, कि वक्त पड़ने पर मैनेजमेंट उनका साथ देगा.’ उन्होंने कहा कि इंडिया टीम के अलावा कोई भी विकेटकीपरों को रोटेट नहीं करता.

उन्होंने कहा,‘पंत और साहा दोनों के साथ काफी पहले से ही नाइंसाफी हो रही है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *