छत्तीसगढ़ महिला आयोग की अध्यक्ष, का लिव-इन रिलेशनशिप पर दिया बयान हो रहा वायरल

छत्तीसगढ़ महिला आयोग की अध्यक्षकिरणमयी नायक ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि प्रेम में पड़ने से पहले लड़कियों को विचार करना चाहिए|

महिलाओं के धोखा खाने संबंधी एक सवाल के जवाब में किरणमयी नायक ने कहा, “अधिकांश मामलों में लड़कियां पहले सहमति से संबंध बनाती हैं|

पहले तो लिव-इन में रहते ,हैं और उसके बाद रेप के ऑफेंस की एफ़आईआर दर्ज कराते हैं|

बयान वापस लेने की भाजपा ने की मांग

भाजपा ने महिला आयोग की अध्यक्ष को अपना बयान वापस लेने और माफ़ी माँगने के लिये कहा है, वहीं राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आयोग की अध्यक्ष का बचाव करते हुए कहा, कि महिला आयोग की अध्यक्ष के यह निजी विचार हो सकते हैं|

बता दें, कि रायपुर शहर की महापौर रह चुकीं, किरणमयी नायक वकालत के पेशे में रही हैं|

वहीं दूसरी तरफ किरणमयी कहती हैं, “मैं अपने बयान पर क़ायम हूं.

महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष हर्षिता पांडेय का कहना है, कि किरणमयी नायक का बयान महिला विरोधी है|

हर्षिता के अनुसार, “किरणमयी नायक जिस संवैधानिक पद पर बैठी हैं, उसका काम ही है, कि महिलाओं को न्याय दिलाये जाए, लेकिन नायक जिस तरह के पूर्वाग्रह के साथ काम कर रही हैं, उससे लगता है, कि आयोग अब एंटी वुमन कमीशन बन चुका है, उन्हें इस मामले में माफ़ी माँगनी चाहिए.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *