चाणक्य नीति फॉर वीमेन: इन 3 मामलों में पुरुषों से हमेशा आगे होती हैं महिलाएं

चाणक्य नीति फॉर वीमेन: चाणक्य को एक लोकप्रिय शिक्षक, दार्शनिक, अर्थशास्त्री, और शाही सलाहकार के रूप में जाना जाता है|

आचार्य चाणक्य ने जीवन से मिले अपने कुछ अनुभवों को एक किताब ‘चाणक्य नीति’ में जगह दिया है|

चाणक्य ने अपनी किताब चाणक्य नीति में उन 4 बातों का जिक्र किया है, जिसमें महिलाएं पुरुषों से आगे ही रहती हैं|

2 गुना अधिक होती है भूख

चाणक्य नीति के अनुसार, महिलाओं को खाने के मामले में पुरुषों से आगे माना गया है| चाणक्य का मानना है, कि महिलाओं को पुरुषों से दो गुना अधिक भूख लगती है, इसके पीछे तर्क यह है, कि महिलाओं को पुरुषों से अधिक उर्जा की आवश्यकता होती है, तो स्वाभिवक है, ऐसे में उन्हें भूख भी उनसे ज्यादा लगती है|

4 गुना अधिक साहस

चाणक्य के मुताबिक,  पुरुषों की तुलना में महिलाओं में चार गुना अधिक साहस होता है| यह अलग विषय ,है की शारीरिक तौर पर भले ही महिलाओं में बल कम हो, लेकिन साहस के मामले में वे पुरुषों से बहुत आगे होती हैं|

अपने इसी साहस के कारण ही वे बड़ी से बड़ी चुनौतियों का सामना निडर होकर करती हैं, और अपने पति या फिर अपने परिवार पर आई मुसीबत का बिना डरे सामना करने को तैयार हो जाती हैं|

6 गुना अधिक कामुकता

आमतौर पर पुरुषों को ही बहुत अधिक कामुक स्वभाव का माना जाता है, लेकिन, क्या आप जानते हैं, कि महिलाओं में पुरुषों के मुकाबले छह गुना अधिक कामुकता होती है|

चाणक्य नीति के अनुसार, कामुकता के मामले में पुरुषों के मुकाबले महिलाएं कहीं ज्यादा आगे होती हैं, यह अलग बात है, कि वे इसे ज़ाहिर करने में संकोच करती हैं, लेकिन, इस चीज की बराबरी पुरुष कभी नहीं कर सकते|

तो ये थीं चाणक्य नीति फॉर वीमेन की वो 3 अहम बातें, जिनमें आचार्य चाणक्य ने महिलाओं को पुरुषों से भी आगे माना है| इस बारे में आपकी क्या राय है, हमारे साथ जरुर शेयर करें|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *