लड़का और लड़की अच्छे दोस्त नहीं हो सकते? अब नहीं उठाएगा कोई सवाल!

हमारे समाज में जब भी एक लड़का और लड़की के आपस की दोस्ती की बात आती है, लोग कई तरह के सवाल उठा देते है। लेकिन हमेशा याद रखें कि दोस्ती कभी भी लिंग देख कर नहीं होती बल्कि हमेशा स्वभाव देख कर होती है।

एक लड़की के लिए उसका सबसे अच्छा दोस्त एक लड़का भी साबित हो सकता है। इसलिए लोगों की सुनकर कभी भी अपोजिट लिंग से दोस्ती करने में घबराने की जरूरत नहीं है|

विश्वास

एक शोध के मुताबिक, अक्सर लड़कियां लड़की मित्र की बजाय लड़को की मित्रता पर अधिक विश्वास करती हैं। इसके पीछे वजह यह भी है, कि लड़कियां आपस में दूसरी लड़कियों पर ज्यादा विश्वास नहीं कर पाती हैं, उन्हें कई बार एक दूसरे से जलन की भावना भी उत्पन्न हो जाती है|

ख्याल

दोस्ती में अक्सर घर पहुंच कर मैसेज करना, समय से घर पहुंचना, अपना ख्याल रखना, तो यह एक कॉमन बात है, मित्रता में वैसे भी एकदूजे के लिए फिक्र जताना बहुत अच्छी बात होती है। दो लड़कियां भी बातों-बातों में एक दूसरे की फिक्र जताती हैं, लड़के भी ऐसा करते हैं, लेकिन उनके तरीके अलग हो सकते हैं।

हंसी मजाक  का माहौल

आमतौर पर लड़के लड़कियों की बातों को सीरियसली नहीं लेते हैं, लेकिन इससे हमेशा एक लाइट और हंसी मजाक का माहौल बना रहता है। इसके साथ ही वो लड़कियों के सबसे अच्छे आलोचक यानि उनमें सुधार करने वाले शख्स होते हैं।

मुसीबत 

अक्सर एक लड़के को लड़कियां अपना दोस्त बनाना इसलिए भी पसंद करती हैं, क्योंकि वो अपनी दोस्त को मुसीबत में अकेला नहीं छोड़ते यानि कि किसी भी समय मदद के लिए बुलाने पर अक्सर लड़के कहीं भी पहुंच जाते हैं। इसके अलावा लड़के, लड़कियों के मुकाबले ज्यादा केयरिंग और प्रोटेक्टिव होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *