अजब गजब ऑस्ट्रिया: बदनामी की वजह से अब बदला जाएगा इस गांव का नाम

अजब गजब ऑस्ट्रिया में एक ऐसा गांव है, जहां के लोग उसका नाम लेने में शर्म महसूस करते हैं. क्योंकि इस गांव का नाम फकिंग (F***ing) है|

हालांकि, अब इस गांव के नाम बदलने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है, और कुछ समय बाद इसे फगिंग (Fugging) के नाम से जाना जाएगा|

सोशल मीडिया पर गांव की बदनामी

वहां के मेयर आंद्रिया होल्जनर के अनुसार, यूरोपीय देशों के पर्यटकों को जब इस गांव के नाम के बारे में पता चलता था, तो वो इस गांव के बॉर्डर पर लगे साइन बोर्ड के पास आकर तस्वीरें खिंचवाते थे|

उसके बाद उसे सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया करते थे, जिससे इस फकिंग गांव की बदनामी हो रही थी| जिसे देखते हुए अब 1 जनवरी 2021 से इसका नाम बदलकर फगिंग रखने का फैसला लिया गया है|

फकिंग गांव का इतिहास

ऐसा कहा जाता है, कि इस गांव की स्थापना 6ठीं शताब्दी में बवेरियन समुदाय के एक शख्स फोको ने की थी|

शुरूआत में इसका नाम एडेलपर्टस डे फसिंनजिन था| फिर साल 1303 में इसका नाम फकचिंग, 1532 में फगखिंग हो गया, और फिर 18वीं सदी तक आते-आते लोग इसे फकिंग (F***ing) बुलाने लगे|

इसका नाम उसके बाद यूरोपीय देशों की जुबान पर चढ़ने लगा, लोग इसके साइन बोर्ड के नीचे फोटो खिंचवाने आते थे, और दूसरों को बड़े चाव से दिखाते थे|

इस गांव को देखने ब्रिटिश पर्यटक सबसे ज्यादा आते हैं, यहाँ तक कई बार तो बसों से लोग सिर्फ गांव और उसका साइन बोर्ड देखने के लिए आते हैं|

कोई अपराध नहीं होता

अजब गजब ऑस्ट्रिया के इस गॉव के बारे में एक रोचक जानकारी यह भी है, कि गांव में वैसे तो कोई अपराध नहीं होता|

पिछले डेढ़ दशक में सबसे ज्यादा अपराध जो रिकॉर्ड किया गया है, वो है, इस गांव के नाम का साइनबोर्ड का बार-बार चोरी हो जाना|

साल 2020 की जन गणना के तहत फकिंग गांव में मात्र 32 घर हैं जिनमें 106 लोग रहते हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *