गजब की दोस्ती: 35 साल पहले बचाई थी हंस की जान, आज इनका याराना बना मिसाल

गजब की दोस्ती:  तुर्की में एक हंस और एक शख्स की दोस्ती पूरी दुनिया के लिए मिसाल बन गई|

दरअसल, इस व्यक्ति को हंस बड़े ही दुखद हालत में मिला था| शख्स ने जिसके बाद हंस की जान बचाई और अब उनकी असामान्य दोस्ती लगभग चार दशक से चली आ रही है|

तुर्की के पश्चिमी एडिरने प्रांत  का मामला

दरअसल, 37 साल पहले तुर्की के पश्चिमी एडिरने प्रांत के रहने वाले सेवानिवृत्त पोस्टमैन रेसेप मिर्जान को एक हंस मिला था|

मिर्ज़ान अपनी कार से कहीं जा रहे थे, तभी उन्होंने एक हंस को देखा, जोकि खाली मैदान में अपने टूटे हुए पंख के साथ पड़ा हुआ था|

मिर्ज़ान हंस को देखभाल और चिकित्सा के लिए अपने घर ले आए| कुछ दिनों बाद टूटा हुआ पंख ठीक हो गया और वह फिर से स्वस्थ हो गया|

इसके बाद उसने मिर्ज़ान के खेत में रहना शुरू कर दिया और यहां तक ​​कि धीरे धीरे इलाके के अन्य पालतू जानवरों से भी उसकी अच्छी जान पहचान हो गई|

हंस की औसत उम्र

आमतौर पर माना जाता है, कि एक हंस की औसत उम्र सिर्फ 12 साल होती है| लेकिन, वे सुरक्षित माहौल में 30 साल तक रह सकते हैं|

यह गैरीप नाम का हंस इसलिए भी खास है, क्योकि, गैरीप की उम्र 35 साल से अधिक हो गई है, और गैरीप अभी भी करागाक क्षेत्र में रह रहा है|

मिर्जेन ने बताया, चूंकि मैं जानवरों से प्यार करता हूं, इसलिए मैं उसे लोमड़ियों के लिए छोड़ने के बजाय घर ले आया|

63 वर्षीय मिर्ज़ान का कहना है, कि वह गैरीप को अपना बच्चा मानते हैं, क्योंकि वह हमेशा उसके प्रति वफादार रहा है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *