अजब गजब शहर: इस जगह पर मरना है सख्त मना, गलती होने पर भुगतनी होगी सजा

अजब गजब शहर:  हर इंसान की इच्छा होती है, कि वह अपनी जिंदगी के आखिरी दिन अपनी जन्मभूमि पर गुजारे, सिर्फ इतना ही नहीं, यहाँ तक की वह आखिरी सांस भी अपनी जन्म भूमि पर ही लेना चाहता है|

लेकिन, आज हम आपको दुनिया में एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां कोई भी व्यक्ति अपनी जन्मभूमि पर मर नहीं सकता|

लोगों के मरने पर पाबंदी

आपको बता दें, कि दरअसल  इस जगह पर लोगों के मरने पर पाबंदी लगी हुई है|

आपको यह पढ़कर थोड़ा अजीब जरूर लगा होगा, लेकिन यह बात एकदम सच है,  नॉर्वे के एक कस्बे में लोगों के मरने पर रोक लगाई गई है|

नॉर्वे के स्वालवर्ड द्वीप की राजधानी लॉन्गइयरबेन में लोगों का मरना मना है, इसे लेकर इस कस्बे में यह कानून 1950 में लागू किया गया था. इसके बाद से आजतक इस कस्बे में लोगों का मरना गैरकानूनी है|

इस विचित्र कानून के बारे में जानकर आप भी सोच रहे होंगे, क्या सोच कर इस कानून को लागू किया गया होगा तो बता दें,  दरअसल, नार्वे का तापमान काफी कम रहता है| 

जब यहां किसी की डेड बॉडी मरने के बाद दफनाई जाती है, तो वह कई साल तक वैसी ही रहती हैं, तथा ना ही वो खराब  होती है|

दिक्कत तब हो जाती है, जब  कोई शख्स यहां किसी गंभीर बीमारी की वजह से मरता है, तो उसके शव से बीमारी फैलने का खतरा बढ़ जाता है|

स्पेनिश फ्लू की वजह से 1918 में हुई थीं कई मौतें

साल 1918 में इस अजब गजब शहर में स्पेनिश फ्लू की वजह से कई मौतें हुई थीं, यहां आज भी लाखों लोगों की कब्रें बनी हुई हैं|

तब से अगर किसी शख्स की तबीयत बहुत खराब होती है. उसके बचने की सारी संभावनाएं लगभग खत्म हो जाती हैं, तो उस शख्स को किसी दूसरे स्थान पर भेज दिया जाता है| 

इसलिए, इस कस्बे में ना कोई अस्पताल है, और ना ही कोई मैटरनिटी सेंटर है, यहाँ तक की  महिलाओं की डिलीवरी के लिए दूसरे शहरों का रुख करना पड़ता है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *